10 Tech Skills in Demand

21वीं सदी पूरी तरह से टेक्नोलॉजी की है। हमारे दैनिक जीवन में आधुनिकीकरण की बढ़ती आवश्यकता के साथ, लोग नई तकनीकों का आविस्कार करने मे लगे हुए हैं। उपकरणों को नियंत्रित करने के लिए रिमोट का उपयोग करने से लेकर कमांड देने के लिए वॉयस नोट्स का उपयोग करने तक आधुनिक तकनीक ने हमारे नियमित जीवन में जगह बनाई है जैसे-जैसे technology से  दुनिया तेजी से बदल रही है। वैसे वैसे उन्नत IT skills वाले पेशेवरों की मांग भी अधिक बड़ती जा रही है ।

भविष्य के लिए ‘सर्वश्रेष्ठ नौकरियों’ या ‘सबसे अधिक मांग वाली नौकरियों’ की सूची में प्रौद्योगिकी भूमिकाओं पर हावी होने के साथ, हम 2021 के लिए सबसे अधिक मांग वाले Technical Skills में से कुछ को देखते हैं जो तकनीकी बाजार में आपकी मांग और आपके मूल्य दोनों को बढ़ाने में मदद करेंगे।

10 Tech Skills in Demand

Augmented Reality (AR) & Virtual Reality (VR):-

ऑगमेंटेड तकनीकी(AR) सहायता से अपने आसपास जैसा वातावरण  डिजिटली बनाया जा सकता है जो  बिल्कुल असली लगता है इस तकनीक का वास्तविक इस्तेमाल  सैन्य अभ्या, गेमिंग, शिक्षा, डिजाइन रोबोटिक व अन्य बहुत से क्षेत्रों में बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है  यह तकनीक कैमरे के जरिए काम करती है 2016 में आई गेम पोकीमॉन गो इसका एक अच्छा उदाहरण है साथ ही Instagram और Snapchat इस फीचर का प्रयोग करके लाइव फेस स्टीकर उपलब्ध कराते हैं । 

वर्चुअल रियलिटी(VR) ऑगमेंटेड तकनीक के बिल्कुल विपरीत है.वर्चुअल रियालिटी में रियल दुनिया के अलावा एक अलग अपनी ही दुनिया बनाई जाती है इसके लिए एक दृश्य और एक आवाज का प्रयोग किया जाता है  इसमें एक हैंडसेट बनाया जाता है जिसमें कैमरे लगा होता है इस तकनीक का प्रयोग गेमिंग में तो किया ही जाता है  इस के अलावा प्रोफेशनल ट्रेनिंग डॉक्टर पायलट वह हॉस्पिटैलिटी क्षेत्रों में खूब होता है यह तकनीक थोड़ी महंगी होती है हर कोई इसको aford भी नहीं कर सकता लेकिन आज के समय में इसकी मांग सबसे अधिक मांगों में से एक है।

Cloud computing

क्लाउड कंप्यूटिंग कंप्यूटिंग सेवाओं की डिलीवरी है – सर्वर, स्टोरेज, डेटाबेस, नेटवर्किंग, सॉफ्टवेयर, एनालिटिक्स और बहुत कुछ – इंटरनेट पर (“क्लाउड”)। इन कंप्यूटिंग सेवाओं की पेशकश करने वाली कंपनियों को cloud प्रदाता भी बोला जाता है और यह कंपनियां क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाएं देने के लिए कुछ  पैसे भी चार्ज करती हैं, जैसे आप अपने घर पर बिजली व पानी की सेवाओं के लिए बिल देते हैं। 

आप शायद अभी क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग कर रहे हैं, भले ही आपको इसका एहसास न हो। यदि आप ईमेल भेजने, दस्तावेज़ संपादित करने, मूवी या टीवी देखने, संगीत सुनने, गेम खेलने या चित्रों और अन्य फ़ाइलों को संग्रहीत करने के लिए ऑनलाइन सेवा का उपयोग करते हैं, तो संभव है कि क्लाउड कंप्यूटिंग पर्दे के पीछे यह सब संभव बना रही है। पहली क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाएं मुश्किल से एक दशक पुरानी हैं, लेकिन पहले से ही कई तरह के संगठन-छोटे स्टार्टअप से लेकर वैश्विक निगमों, सरकारी एजेंसियों से लेकर गैर-लाभकारी संस्थाओं तक- हर तरह के कारणों से तकनीक को अपना रहे हैं।

Ai and Machine Learning

AI(आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) और मशीन लर्निंग कंप्यूटर साइंस के ऐसे हिस्से हैं जो एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। ये दो technologies सबसे अधिक प्रचलित technologies हैं जिनका उपयोग बुद्धिमान प्रणाली बनाने के लिए किया जाता है।

यद्यपि ये दो संबंधित प्रौद्योगिकियां(technologies) हैं और कभी-कभी लोग इन्हें एक दूसरे के पर्याय(synonym) के रूप में उपयोग करते हैं, लेकिन फिर भी दोनों विभिन्न मामलों में दो अलग-अलग शब्द हैं।

Ai and Machine Learning मे  सबसे अधिक मांग वाले कौशल TensorFlow, Python, Java और प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण हैं, और इसकी लोकप्रियता के कारण, आईटी पेशेवर जो इनसे लैस हैं, 2021 में सबसे आधिक मांग में हैं। 

Blockchain

ब्लॉकचैन एक विकेन्द्रीकृत सार्वजनिक नेटवर्क है जो लोगों और कंपनियों को सूचना और मुद्रा को तुरंत स्टोर और सुरक्षित रूप से स्थानांतरित करने की अनुमति देता है। ब्लॉकचैन शब्द यह भी संदर्भित करता है कि डेटा को सूचना के “ब्लॉक” में कैसे संग्रहीत किया जाता है और फिर एक स्थायी “श्रृंखला” में एक साथ जोड़ा जाता है। जब श्रृंखला में एक नया ब्लॉक जोड़ा जाता है, तो यह पिछले ब्लॉक को संशोधित करना और भी कठिन बना देता है, जिससे प्रत्येक ब्लॉक समय के साथ अधिक से अधिक सुरक्षित हो जाता है। ऐसे कई पहलू हैं जो कई अलग-अलग प्रकार के व्यावसायिक अनुप्रयोगों के लिए ब्लॉकचेन तकनीक को अद्वितीय और मूल्यवान बनाते हैं।आज ब्लॉकचैन प्रणाली स्किल्स की मांग सबसे अधिक 

Cybersecurity

साइबर सुरक्षा कंप्यूटर सिस्टम और नेटवर्क की उनके हार्डवेयर, सॉफ़्टवेयर, या इलेक्ट्रॉनिक डेटा की चोरी या क्षति के साथ-साथ उनके द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं के व्यवधान या गलत दिशा से सुरक्षा हैसाइबर सुरक्षा 2021 में शीर्ष  technology trends में से एक है, जो उन कंपनियों के लिए महत्व रखती है जो अपने नेटवर्क को हमलों से सुरक्षित रखना चाहते है । 

IT skills पेशेवरों के बीच साइबर सुरक्षा कौशल की कमी ने information security, cybersecurity, network security कौशल वाले लोगों के लिए एक मांग बाजार बनाया है।

SEO/SEM Marketing

सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM) SEO से संबंधित है जिसमें वे दोनों Google और Bing जैसे सर्च इंजन पर डिजिटल मार्केटिंग आउटरीच से निपटते हैं। हालाँकि, SEO आमतौर पर आंतरिक, ऑर्गेनिक वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ेशन को संदर्भित करता है जबकि सर्च इंजन मार्केटिंग को आमतौर पर पेड मीडिया बजट के माध्यम से विज्ञापन के रूप में जाना जाता है।

SEM का फुल फॉर्म Search Engine Marketing है.और इसका उपयोग सर्च इंजन से Paid में Traffic लेने के लिए किया जाता है. SEO का मतलब होता है Search Engine से Free में Traffic लेना। SEM एक तरीका है जिसमें कोई व्यक्ति सर्च इंजन रिजल्ट पेज (SERP) में अपना वेबसाइट को दिखाने के लिए pay करते हैं। 

लोग अपने कुछ targeted keywords ढूंढ लेते हैं। जिस पर उन्हें Rank कराना होता है। और उन पर ही अपना ads चलाते हैं। पर इस के लिए proper  keyword research करना बहुत जरूरी है। जैसे ही कोई व्यक्ति उस keyword को सर्च इंजन में type करता है उनका ads दिखाई देता है। 

Paids Ads को प्रत्येक सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर देखा जा सकता है।इसमें व्यक्ति या brand डिजिटल ad campaigns बनाते हैं। और अपने वेबसाइट पर sale करते हैं। यहां हमारा सारा ध्यान search engine पर ही होता है।

SEM Campaigns setup कहने का मतलब यह नहीं कि बस अपने keyword type कीया और आपका ad  दिखाई दे। ऎसा नहीं होता इसकी लिए भी  लिए Google और सभी सर्च इंजन का एक विशेष calculation होता है। जिसके बाद वह यह तय करते है। आपका ads कब और कैसे दिखाना चाहिए। मै आपको 3 महत्तपूर्ण Factor  बताऊंगा। जो search engine कीसी site में देखता है।

Web Development

इंटरनेट के इस ज़माने में जहां छोटे बिज़नेस से लेकर बड़े बिज़नेस को लोगो के सामने रखने या लोगो को बिज़नेस के बारे में बताने के लिए एक वेबसाइट की जरूरत होती है ऐसे में भविष्य में Web Development जैसे कोर्स ओर स्किल की बहुत डिमांड होने वाली है। Web development का मतलब होता है Websites की building करना, उन्हें create करना, और साथ में उन्हें maintain करना भी. Web Development के दुसरे पहलु भी हैं जैसे की web design, web publishing, web programming, और database management.

जबकि शब्द “वेब डेवलपर” (Web Developer) और “वेब डिजाइनर” (Web Designer) अक्सर पर्यायवाची रूप से उपयोग किया जाता है, वे एक ही बात मतलब नहीं है . तकनीकी रूप से, एक वेब डिजाइनर केवल एचटीएमएल और सीएसएस का उपयोग करके वेबसाइट इंटरफेस डिजाइन करता है।

एक वेब डेवलपर एक वेबसाइट डिजाइन करने में शामिल हो सकता है, लेकिन यह भी PHP और एएसपी के रूप में भाषाओं में वेब स्क्रिप्ट लिख सकते हैं . इसके अतिरिक्त, एक वेब डेवलपर एक गतिशील वेबसाइट द्वारा उपयोग किए जाने वाले डेटाबेस को बनाए रखने और अपडेट करने में मदद कर सकता है।

वेब विकास (Web development) में कई प्रकार की वेब सामग्री निर्माण शामिल है. कुछ उदाहरणों में टेक्स्ट एडिटर में हैंड कोडिंग वेब पेज, ड्रीमवीवर जैसे प्रोग्राम में वेबसाइट बनाना और ब्लॉगिंग वेबसाइट के माध्यम से ब्लॉग अपडेट करना शामिल है. हाल के वर्षों में, वर्डप्रेस (WordPress), ड्रूपल (Drupal) और जुमला (Jumla) जैसे कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम भी वेब विकास के लोकप्रिय साधन बन गए हैं. ये उपकरण किसी के लिए भी वेब-आधारित इंटरफ़ेस का उपयोग करके अपनी वेबसाइट बनाना और संपादित करना आसान बनाते हैं।

Data Engineering

Data Engineering और डेटा साइंस क्या है आज डेटा हर व्यवसाय में सबसे बड़े चर्चित  शब्दो में से एक है। जबकि डेटा साइंटिस् अध्ययन के सबसे लोकप्रिय क्षेत्रों में से एक के रूप में उभरा है और काम के लिए डेटा इंजीनियरिंग तुलनात्मक रूप से एक नजदीकी देखी गई है। लेकिन डेटा इंजीनियरिंग क्या है यह डेटा साइंस से कैसे अलग है Data Engineering क्या करते हैं इन सभी  प्रश्नो के सवाल आज इस आर्टिकल में देखने। 

Data Engineering क्या है?

यह समझने के लिए कि डेटा इंजीनियरिंग क्या है इसे दो भागों में विभाजित करते है  Data + Engineering। 

एक डेटा साइंटिस्ट केवल उतना ही अच्छा होता है जितना उस डेटा का एक्सेस होता है। अधिकांश कंपनियां अपने डेटा को विभिन्न प्रकार के स्वरूपों में डेटाबेस ,डिजाइन और टेक्स्ट फ़ाइलों में स्टोर करते हैं। यह वह जगह है जहां डेटा इंजीनियर आते हैं – वे पाइपलाइनों का निर्माण करते हैं जो उस डेटा को प्रारूपों में बदल देते हैं जो भविष्य कहनेवाला मॉडल तैनात करना, डेटा की सफाई करना जो डेटा साइंटिस्ट उपयोग कर सकते हैं। Data Engineer डेटा साइंटिस्ट के समान ही महत्वपूर्ण हैं।

UI/UX Design

किसी भी Product या Mobile Application को बनाते समय  UI Design से ज्यादा महत्वपूर्ण होता है UX Design ! UI Design में सिर्फ किस भी Application का User Interface बनाया जाता है।

 और UX Design में उस Application के बारे में पूरा Reserch होता है ! जैसे की उसे कौन से लोग इस्तेमाल करेंगे, उससे किसी को क्या फायदा होगा , कितने लोगो को फायदा होगा और क्यों होगा ! और साथ में उस Application के जैसे और एप्लीकेशन और उसके क्या फायदे है तो यही काम होता है UX Designer का।  और इसी काम को UX Design कहते है।

UX Designer कैसे बने ?

आपको एक UX Designer बनने के लिए आप किसी भी कॉलेज या किसी इंस्टिट्यूट को ज्वाइन कर सकते है ! सबसे पहले आपको ये जानना होगा की आप किस लिए Designer के क्षेत्र में आ रहे हो है ! अगर आप पैसे कमाने के लिए इस क्षेत्र में आ रहे है तो आप ख्याल छोड़ दीजिये ! क्योकि यहाँ पर आपका सर्टिफिकेट किसी काम का नही होता है ! यहाँ पर आपका अनुभव ही सब कुछ होता है ! अगर आप पहले एक Graphics Designer थे या फिर आप एक UI Designer थे तो आप अपने अनुभव और समय के साथ आप खुद एक UX Designer बन जायेंगे।

Graphic Design

अगर आप क्रिएटिव हैं और नया करते रहना अच्छा लगता है, तो Graphic Design आपके लिए एक अच्छा करियर ऑप्शन हो सकता है। जरूरी नहीं इसके लिए किसी इंस्टिट्यूट से कोर्स किया जाए, कंप्यूटर और इंटरनेट हो तो घर बैठे ही आप इस फील्ड में ब्राइट करियर बना सकते हैं।

Graphic Design एक तरह की आर्ट है, जिसमें टेक्स्ट और ग्राफिक की मदद से मेसेज इफेक्टिव बनाया जाता है। मेसेज ग्राफिक्स, लोगो, ब्रोशर, न्यूज लेटर, पोस्टर या फिर किसी भी रूप में हो सकता है।

हर तरफ दिखती चमक Graphics Designers की ही मेहनत है। पब्लिक रिलेशन, न्यूज पेपर, ऐडवर्टाइजिंग एजेंसी, वेब पेज मैगजीन और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जैसी फील्ड्स में ग्राफिक डिजाइनर्स की डिमांड रहती है। फिल्म, विज्ञापन और एनिमेशन फील्ड में इनकी डिमांड तेजी से बढ़ी है।इस फील्ड में 15 से 30 हजार रुपये से ही शुरुआत होती है, लेकिन बाद में एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ आपकी सैलरी एक-डेढ़ लाख रुपये तक भी जा सकती है।

Leave a Comment