HomeJankariTraffic Signs in Hindi

Traffic Signs in Hindi

Rate this post

नमस्कार दोस्तों बहुत सारे लोगो के सबाल है कि traffic signs in hindi (यातायात संकेत) के बारे में बतायो। तो आए ऐ आज आपके सभी सबालों के उत्तर देते है। और आपको सही जानकारी देते है, ता कि आप गलत जगह ना फस जाए। Traffic Signal के बारे में अक्सर आप कही भी travel करते है.

तो इस दौरान अपने कई प्रकार के (यातायात संकेत) और signal को देखा होगा या इसके बारे में अपने सुना होगा पर आज को ट्रैफिक सिग्नल के वारे में बातें गए  की इसका अर्थ क्या होता है और traffic signal का पालन न करने पर आपको क्या हानि हो सकती है । तो चलिए  बिना किसी देरी से स्टार्ट करते है।

traffic signs in hindi

traffic signs (यातायात संकेत) या सड़क संकेत (रोड साइन), सड़क का उपयोग करने वालों को जानकारी प्रदान करने के लिए सड़कों के किनारे लगाए गए signs (संकेतों) को कहते हैं। इस तरह के सचित्र संकेतों में शब्दों के स्थान पर चिन्हों (signs) frequent photographs (अक्सर छायाचित्रों) का उपयोग किया जाता है और ये आम तौर पर international protocol (अंतरराष्ट्रीय प्रोटोकॉल) पर आधारित होते हैं।

Traffic Sings

Traffic Sings को 3 अलग अलग भागो में बाटा गया है जिसमे Mandatory sign, Warning sign वाले sign और Informational sign आदि मुख्य हैं.

Mandatory sign

यह वो संकेत होते है जो की सभी वाहन चालकों को मानने जरुरी है व जो स्थान दुर्घटना संभावित क्षेत्र है वहा पर यह सिग्नल लगाए जाते है यह सिग्नल आपको अधिक  ट्राफिक वाले स्थानों पर, चौराहे पर व शहरों अदि में देखने को मिल जाते है इन सिग्नल का उलंधन करने पर कानून जुर्माना लगा सकता हैं.

Warning sign 

यह हमे धीरे चलने या संभलकर चलने के संकेत देते है ताकि हम किसी भी प्रकार की दुर्घटना से बच सके जैसे की कोई खराब सड़क हो या टुटा हुआ सड़क हो या पहाड़ी क्षेत्र हो तो  ऐसी स्थिति में आपको चेतावनी के संकेत दिए जाते हैं.

Informational sign 

यह सुचना के लिए दिए जाने वाले संकेत होते है जैसे की कोई भी अस्पताल, पेट्रोल पम्प, होटल अदि आने पर आपको दाए या बाए मुड़ने के संकेत दिए जाते है वो सूचनात्मक  संकेत होते हैं.

कई लोग इन संकेतो को नजरअंदाज कर देते है पर आपको कभी भी किसी भी संकेत को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए  क्युकी कभी भी आपको उसकी जरुरत पड़ सकती है ऐसे में यह संकेत बहुत ही लाभदायक (benefits) होते हैं | जब आप किसी वी sign को ingro  करते है तो दर्घटन के चान्स बढ़ जाते है ।

यदि हर ड्राइवर चाहे तो, वह कुछ प्रमुख और महत्वपूर्ण यातायात नियमों का पालन करके अपने और दूसरों के जीवन की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है।

ट्रैफिक सिग्नल सबसे महत्वपूर्ण हैं, वे लोगों को सड़क दुर्घटनाओं से बचाने के लिए एक मूक संदेश के रूप में कार्य करते हैं। किसी भी वाहन चालाक के लिए इन यातायात संकेतों (Traffic Signs In Hindi) की अच्छी समझ होना बहुत जरूरी है।

Red Light Sign

चौराहों पर ट्रैफिक लाइट का उपयोग यातायात (Traffic Signs In Hindi) को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। लाल बत्ती का मतलब है कि आपको चौराहे पर रुकना होगा ।

Yellow Light Sign

पीली रोशनी का मतलब है रुकने के लिए तैयार होना। लाल बत्ती होने से पहले पीली रोशनी सेकंडों में बदल जाती है। यह लाइट ड्राइवर को सचेत करने के लिए है।

Green Light Sign

इस हरे रंग के संकेत का मतलब है कि अब यातायात (Traffic Signs In Hindi) खुल गया है, आप आगे बढ़ सकते हैं। प्रत्येक प्रकाश एक निश्चित समय के लिए है। उसी समय, आपको रुकना या चलना होगा।

Stop Sign

स्टॉप साइन का मतलब है कि आपको यहां रुकना है। यह संकेत बोर्ड या सड़क पर लिखा जा सकता है। जहां भी आप इसे देखें, अपनी कार को रोकें और चारों ओर देखें और रास्ता साफ होने पर ही आगे बढ़ें।

यातायात के प्रतीक का नामयातायात के प्रतीक का अर्थ

हाई लिमिट (high limit)

इस sign का मतलब होता है की इस एरिया area मे दी गई लिमिट limit से ज्यादा के वाहन नही निकल सकते.

बयां मोड़(turning point)

इस sign का मतलब होता है की आगे आपको बाएँ ओर मुड़ना है ।

पशु

इसका मतलब यह होता है कि इस एरिया में  पशुओं का डेरा होता हैं ।

साइकिल क्रा सिग्न

इस प्रतीक का मतलब होता हैं कि आगे साइकिल cycle क्रासिंग हैं ।

चट्टानों का गिरना

इसका मतलब यह होता हैं कि आगे के रास्ते में मौसम के कारण चट्टानें रोड पर गिर सकती हैं । ध्यान से चले।

नौका

यह संकेत ड्राईवर को एक नदी के पार नौकायन पार करने की स्थिति के बारे में चेतावनी देने के लिए होता हैं।

बाएँ हैर्पिन मोड़

यह तब उपयोग किया जाता है जब दिशा में परिवर्तन इतना महत्वपूर्ण होता हैं कि वह दिशा के रेवेर्सल के बराबर होता हैं. यहाँ यह संरेखण के आधार पर बाएँ ओर झुका हुआ है ।

बाएँ हाथ का कर्व

इसका उपयोग तब किया जाता है जब संरेखण की दिशा बदलती हैं यह गति को कम करने और सावधानी से चलने के लिए चेतावनी होता हैं ।

बाएँ रिवर्स मोड़

इसका उपयोग तब होता है जब रिवर्स मोड़ की प्रकृति आवागमन तक पहुँचने के लिए स्पष्ट नहीं हैं.

खुली बजरी

इसका उपयोग तब किया जाता है जब तेजी से आने वाले वाहनों द्वारा बजरी को फेंक दिया जा सकता है.

पुरुष कम पर है

इसका उपयोग तब होता है जब पुरुषों या मशीनों के द्वारा सड़क पर कोई काम चल रहा होता है. काम पूरा हो जाने के बाद यह हटा दिया जाता हैं.

नैरो ब्रिज

यह प्रतीक पुल आने के पहने लगाया जाता हैं. जहाँ प्रतिबंध या पहिया गार्ड के बीच की चौड़ाई गाड़ी की सामान्य चौड़ाई से कम है.

नैरो रोड

यह संकेत अधिकतर ग्रामीण क्षेत्र में पाया जाता है, जहाँ फूटपथ की चौड़ाई में अचानक कमी से यातायात के लिए खतरा पैदा होता है.

पैदल चलने वालों की क्रासिं

यह प्रतीक ज़ेबरा क्रासिंग आने के पहले बनाया जाता हैं. ताकि वाहन की रफ्तार कम की जा सकें.

दाएँ हैर्पिन मोड़

यह तब उपयोग किया जाता है जब दिशा में परिवर्तन इतना महत्वपूर्ण होता हैं कि वह दिशा के रेवेर्सल के बराबर होता हैं. यहाँ यह संरेखण के आधार पर दाएँ ओर झुका हुआ हैं.

दाएँ रिवर्स मोड़

इसका उपयोग तब होता है जब रिवर्स मोड़ की प्रकृति आवागमन तक पहुँचने के लिए स्पष्ट नहीं हैं.

दाएँ हाथ का कर्व

इसका उपयोग तब किया जाता है जब संरेखण की दिशा बदलती हैं यह गति को कम करने और सावधानी से चलने के लिए चेतावनी होता हैं.

सड़क मार्ग

यह संकेत अधिकतर ग्रामीण क्षेत्र में पाया जाता है, जहाँ चौड़ाई में अचानक वृद्धी से यातायात के लिए खतरा पैदा होता है. जैसे कि दो लेन की सड़क, अचानक दोहरी गाड़ी के मार्ग को चौड़ा कर देती हैं.

स्कूल

जहाँ स्कूल की इमारतें व मैदान सड़क के आस – पास होते हैं वहाँ यह प्रतीक लगाया जाता है ताकि स्कूल से बच्चे सुरक्षित रहें.

सड़क में फिसलन

इसका उपयोग फिसलन वाली सड़क आने के पहले किया जाता है.

खड़ी चढ़ाई

यह प्रतीक तेजी से आने वाले वाहनों के लिए चढ़ाई आने वाली रोड के पहले लगाया जाता हैं. ताकि ट्रैफिक के लिए खतरा पैदा न हो.

ढलान

यह प्रतीक तेजी से आने वाले वाहनों के लिए उतार आने वाली रोड के पहले लगाया जाता हैं. ताकि ट्रैफिक के लिए खतरा पैदा न हो. और वाहन नियंत्रित रहे।

यदि आपको traffic signs in hindi द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी है ,और आपको इससे जरा सी भी help मिली है ,तो आप हमे comment करके बता सकते हैं। साथ ही आप इस जानकारी को अपने friends और relatives के साथ भी जरूर share करना । धन्यवाद

Admin
Adminhttps://dailyposthindi.com
नमस्कार मैं ,DailyPostHindi (डेली पोस्ट हिन्दी) का Author/ Founder हूँ। मैं make money online, business और Finance से जुडे विषय के बारे में बताता हूँ। हमारा यह मकसद है के इस ब्लॉग पे आपको अच्छी से अच्छी जानकारी मिले। #dailyposthindidailylearning
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

close